ई-श्रम पोर्टल

ई-श्रम पोर्टल : पंजीकरण, और लाभ (E-SHRAM PORTAL)

Share this article

ई-श्रम पोर्टल: देश में असंगठित श्रमिक वर्ग के करोड़ों कामगारों के कल्याण को ध्यान में रखते हुए श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा देश में पहली बार असंगठित कामगारों का डाटा एकत्रित करने का काम किया जा रहा है। जिसके लिए ई-श्रम पोर्टल विकसित किया गया है।

26 अगस्त 2021 को भारत सरकार के श्रम मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय असंगठित कामगारों की जानकारी एकत्रित करने के उद्देश्य से श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के मंत्री श्री भूपेंद्र यादव द्वारा ई-श्रम पोर्टल (राष्ट्रीय असंघाटित कामगार डाटाबेस) का शुभारंभ किया गया।

ई-श्रम पोर्टल का उद्देश्य

हाल ही पूरे देश में COVID 19 महामारी के समय देश में मजदूर वर्गों का भारी पलायन, उनको हुई समस्याओं का गवाह पूरा देश रहा है।

इस महामारी में अगर कोई सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है तो वो है असंगठित श्रमिक, या ऐसे लोग जिनका जीवन यापन उनके रोज के काम पर आधारित था।

हालांकि, ऐसा नहीं है की इस पोर्टल (ई-श्रम पोर्टल) को बनाने की यह मुख्य वजह है, पर तात्कालिक कारणों में यह प्रमुख कारण हो सकता है।

शायद यह जानकर आपको आश्चर्य होगा की अभी तक भारत सरकार के पास यह आंकड़ा नही है की भारत में कितने असंगठित मजदूर है।

अतः इन्ही असंगठित मजदूरों का आंकड़ा एकत्रित करने के उद्देश्य से ई श्रम पोर्टल लॉन्च किया गया है।

असंगठित मजदूर कौन है

शायद सबको यह बात पता होगी की असंगठित मजदूर होते कौन है, पर फिर भी मैं यहां स्पष्ट करना चाहूंगा की “ऐसे व्यक्ति जो अपने घर पर काम कर रहा हो या स्वयं का काम कर रहा हो, या किसी ऐसी संस्था से तनखाह ले रहा हो जो भारत सरकार या राज्य सरकार के अधीन रजिस्टर्ड न हो और जिसमे 10 से कम कर्मचारी काम करते हो” असंगठित मजदूर माना जायेगा।

वैसे अगर देखे तो निर्माण श्रमिक, देहाड़ी, कृषि श्रमिक, लघु विक्रेता, घरेलू महिलाएं, ट्रक चालक, मछुआरे, आशा एवं आंगनबाड़ी कर्मी, स्वकर्मी जैसे एक बड़े समूह को शामिल किया गया है।

Read- 2mins

ई-श्रम पोर्टल क्यों

भारत सरकार द्वारा इससे पहले भी कई बार असंगठित मजदूरों की गणना का प्रयास किया गया था लेकिन कुछ कारणों से सफलता नहीं मिल पी थी या प्राप्त जानकारी वास्तविकता से बहुत परे थी।

वर्ष 1997 में Inter State migrant app लाया गया था जिससे कुछ खास सफलता नहीं मिली। इससे प्राप्त जानकारी के अनुसार कुल 90 हजार लोगो ने ही अपना पंजीयन प्रवासी मजदूर के रूप में कराया था।

इसी तरह वर्ष 2008 में Unorganised Worker Social Security app लॉन्च किया गया था, जिसके परिणाम भी कुछ खास नहीं थे।

इसलिए इन सब योजनाओं की असफलता के कारणों को ध्यान में रखते हुए, ई श्रम पोर्टल को सफल बनाने के संपूर्ण प्रयास किए गए है।

ई-श्रम पोर्टल – पंजीयन कैसे करे

ई श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए कई विकल्प उपलब्ध है। ई-श्रम पोर्टल पर पंजीयन की प्रक्रिया बहुत आसान है।

पंजीयन के लिए आवेदक अपने नजदीकी CSC जा सकते हैं या अपना पंजीयन खुद भी कर सकते है।

अगर कोई व्यक्ति खुद से पंजीयन करना चाहता है तो ई श्रम पोर्टल की वेबसाइट www.eshram.gov.in पर जाकर खुद से पंजीयन किया जा सकता है।

खुद से पंजीयन करने के लिए नीचे दी गई लिंक पर क्लिक करें।

ई-श्रम पोर्टल : पंजीकरण,और लाभ (E-SHRAM PORTAL)
ई श्रम पोर्टल होम

जैसे ही आप लिंक पर क्लिक करेंगे इस तरह का पेज खुलेगा। आप को REGISTER on e shram पर क्लिक करना है।

ई-श्रम पोर्टल : पंजीकरण,और लाभ (E-SHRAM PORTAL)
नंबर वेरिफिकेशन – ई-श्रम पोर्टल

जिसके बाद सेल्फ रजिस्ट्रेशन का पेज खुलेगा जहाँ आपको अपना आधार नंबर से लिंक मोबाइल नंबर डालना होगा। साथ ही EPFO और ESIC की जानकारी भी भरनी होगी। फिर SEND OTP पर क्लिक करना होगा।

ई-श्रम पोर्टल : पंजीकरण,और लाभ (E-SHRAM PORTAL)
आधार वेरिफिकेशन – ई-श्रम पोर्टल

जिसके बाद आपको अपना आधार नंबर भरने का विकल्प होगा और सबमिट करना होगा।

इसके पश्चात बैंक खाता नंबर भी भरना होगा। जब आपका रजिस्ट्रेशन पूर्ण हो जायेगा तो तुरंत आपको 12 अंको का ई श्रम कार्ड का नंबर और ई श्रम कार्ड भी मिल जायेगा।

अभी पंजीयन करने के लिए यंहा क्लिक करे :- https://eshram.gov.in/

ई-श्रम पोर्टल पर पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज

ई श्रम पोर्टल पर पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेजों की सूची निम्नानुसार है

  • आधार कार्ड
  • आधार कार्ड से लिंक मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता नंबर
  • इ श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन हेतु उम्मीदवार की उम्र 16 से 59 वर्ष के मध्य होनी चाहिए

ई श्रम पोर्टल पर पंजीयन के लाभ

ई-श्रम पोर्टल पर पंजीयन कराने से असंगठित मजदूरों की पहचान करने में सरकार की मदद हो सकेगी, जिसके उपयोग से सरकार न केवल मजदूरों के लिए चलाए जा रही योजनाओं का आसानी से क्रियान्वयन कर पाएगी बल्कि नई योजनाओं को बनाने में भी सुविधा होगी।

ई-श्रम पोर्टल पर पंजीयन कर्ताओं को मिलने वाले लाभों की बात करे तो –

  • ई श्रम के अंतर्गत 2 लाख तक का बीमा होता है।
  • सरकार की सामाजिक सुरक्षा नीतियों जैसे कर्मकार कार्ड से मिलने वाले लाभ, आवास भत्ता, EPFO, ESIC, One Nation One Card आदि तरह की सुविधाओं का लाभ मिलने मे आसानी होगी।
  • ई श्रम पोर्टल पर पंजीकृत लोगो की जानकारी NSC (National Career Service) से साझा कर लोगो की रोजगार तक पहुंच को आसान बनाना है।
  • राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली योजनाओं का लाभ भी अब इस पोर्टल की मदद से मिल सकता है।

भारत सरकार द्वारा ई-श्रम पोर्टल के माध्यम से असंगठित मजदूरों के कल्याण हेतु 5 वर्षो में लगभग 740 करोड़ खर्च करने का लक्ष्य रखा गया है।

ई-श्रम पोर्टल नंबर

सरकार द्वारा किसी भी तरह की असुविधा होने पर मदद के लिए एक हेल्प लाइन नबर भी दिया है । ई श्रम पोर्टल हेल्पलाईन नंबर 14434 है जिस पर कॉल करके मजदूर भाई अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते है

Read- 2 Mins

Leave a Comment