NCERT Infrexa

नवनीत भसीन आईपीएस – रीवा के नए पुलिस अधीक्षक

जानी – मानी विन्द्य की धरा जो सफ़ेद शेरो के नाम से जानी जाती रही, उसे अब एक और नया शेर मिल गया है| जी हाँ हम बात कर रहे हैं, रीवा के नये SP नवनीत भसीन आईपीएस जी की जो पुलिस डिपार्टमेंट में सबसे तेज तर्राट, प्रतिभाशील व व्यक्तित्व के धनी अधिकारी हैं।

नवनीत भसीन (आईपीएस) ने हमारे विन्द्य की धरा रीवा में आकर पुलिस अधीक्षक का पदभार संभाल लिया है। बताया जाता है की SP रीवा आईपीएस नवनीत भसीन जुर्म की दुनिया में बाज की तरह नजर रखते हैं।

पदभार लेते ही रीवा जिले के जवा थाना क्षेत्र में दो पक्षों में हुई मारपीट की घटना के बाद कर्यवाई में लापरवाही बरतने पर थाना प्रभारी जवा कार्यवाहक निरीक्षक आर.के गायकवाड़ को आईपीएस नवनीत भसीन ने निलंबित कर लापरवाही बरतने वाले अन्य थाना प्रभारियों और पुलिस कर्मियों को पहली सीख दे दी।

SP रीवा नवनीत भसीन (आईपीएस) का जीवन परिचय

बताया जाता है कि SP रीवा : IPS नवनीत पुलिस ऑफिसरों में सबसे तेज तर्राट प्रतिभासील और गौरवशाली आईपीएस है जो शिवपुरी के जाने – माने प्रतिष्ठित वरिष्ठ व्यवसायी श्री सूरज प्रकाश और श्री मती किरण भसीन जी के सुपुत्र है। IPS नवनीत का जीवन काफी संघर्षो से गुजरा उन्होंने संघर्ष की भारी शृंखलाओ को पार करते हुए 10 वी व 12 वी की शैक्षिक योग्यता हासिल करने के उपरांत बी.काम कर पुलिस मैंनेजमेंट में मास्टर डिग्री की उपाधि प्राप्त की।

नवनीत भसीन पुलिश प्रशासनिक सेवा (आईपीएस) – 2009 बैच के अधिकारी हैं जिनकी प्रथम नियुक्ति गंज बासौदा में SDOP पद पर दी गई थी जहाँ पर इन्होने बड़े ही निष्ठां और इमादारी से कर्तव्य निर्वाह किया। इसके बाद इन्होंने मध्य प्रदेश के कई जिलो में पुलिश कप्तान के रूप में अच्छा नेतृत्व कर पुलिश कप्तान होने का उच्चतर दायित्व निभाया‍।

यह भी पढ़ेरीवा में बढ़ते अपराधों पर नियंत्रण कसने इस अधिकारी की PHQ भोपाल से सीधे रीवा के लिए हुई पोस्टिंग। जाने मध्यप्रदेश के किन-किन आईपीएस अधिकारियों को कहां कहाँ भेजा गया।

SP रीवा – आईपीएस नवनीत भसीन व मीडिया

आईपीएस नवनीत भसीन के सम्मान और पुरुष्कार

श्री भसीन जी में सबसे बड़ी खास बात यह है कि – इनकी जहाँ-जहाँ भी पदस्थापना हुई ये जनता के बीच शालीनता पूर्वक कार्य करते हुए व अपनी बुद्धिमत्ता से लोगो के हृदय में एक विशेष जगह बनाई है जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण सन 2016 के नवम्बर महीने में जब आईपीएस नवनीत भसीन के स्थानान्तरण का समाचार भिंड वासियों को मिला, तो यह समाचार मिलते ही न केवल सोशल मीडिया ने विरोध किया अपितु भिंड की सारी जनता जिसमें बड़े – बूढ़े और नौजवान भी शामिल थे सड़कों पर उतर कर भावुक अंदाज में नारेवाजी करते हुए स्थानान्तरण रोको का प्रदर्शन करने लगे।

वैसे तो हमारे देश में पुलिस की छवि काफी ख़राब है लेकिन वास्तव में भिंड की आम जनता का यह प्रेम देखकर किसी के भी मन में पुलिस के लिए सम्मान जागृत हो जाये। श्री भसीन जी के लिए इस तरह जनता का असीम प्यार व आत्मिक लगाव ही इनके लिए जीवन के सारे पुरुष्कारों से बढ़कर पुरुष्कार था।

SP रीवा, नवनीत भसीन (आईपीएस) कार्यालय में कार्य करते हुए

IPS भसीन जी का विवाद

बताया जाता है कि IPS नवनीत को लापरवाह, घोसखोर और दलाली करने वाले लोगों से नफरत है चाहे भले ही ये लोग उनके विभाग के ही क्यों न हो। ये अपराध करने वाले लोगों के लिए बहुत ही खतरनाक है।

इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकतें हैं कि जब ये – भिंड के SP थे तब न केवल इन्होंने बढ़ते अपराधो पर नियंत्रण रखा बल्कि भिंड की बदनाम छवि सुधारने एवं बड़े – बड़े माफियाओ को जो बात- बात पर बन्दूक निकाल कर लोगो को डराते-धमकाते रहते थे उन पर कमर तोड़ कार्यवाई कर उनके सल्तनत को नेस्तनाबूद कर दिया और उनके गुंडा राज का खात्मा कर जैसे – हथियारों के तस्कर, रेत माफिया, हैकर्स, मादक द्रव्यों के अवैध विक्रेता एवं जुए व सट्टे, इत्यादि में संलिप्त बड़े -बड़े अपराधों पर अंकुश लगाकर महत्वपूर्ण उपलब्धियां प्राप्त की।

यह भी पढ़ेंक्या फिर लगने वाला है लॉकडाउन ? अब नीपाह वायरस के कोहराम से लोग हो रहे परेशान।

आईपीएस नवनीत भसीन जिन – जिन जिलो में रहे वहां पर पूर्व की तुलना में अपराधिक गतिविधियाँ कम कर जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हुए उनके दिलों पर राज किया। ये जहाँ भी रहे इनकी कार्य प्रणाली से हर प्रकार के अपराधों में कमी आई है इसलिए रीवा की जनता को भी इनसे काफी उम्मीदें है।

SP रीवा नवनीत भसीन की बैठक में सभी पुलिस अधिकारी व पुलिसकर्मी

सामाजिक पहल

श्री नवनीत भसीन (आईपीएस) ने जनता के हितों की रक्षा के लिए सामाजिक एवं आर्थिक रूप से काफी संघर्ष किया। लोगो के हक़ और अधिकार को निगलने वाले अजगरों के अधिपत्य को इन्होंने बहुत ही प्रभावी ढंग से ख़त्म कर लोगों को उनके अधिकार दिलवाए। साथ ही प्रतिभावान छात्रों के हक़ के लिए भी इन्होंने काफी संघर्ष किया। छात्रों के लिए किये गए संघर्स में भी इन्होंने बहुत बड़ी सफलता पाई जो भिंड के लिए एक वरदान साबित हुआ।

इसके आलावा ये ग्वालियर में जनता के दिलों के सम्मानीय पुलिस अधीक्षक भी रहे।

SP रीवा – आईपीएस नवनीत भसीन

कार्य-प्रणाली

आईपीएस नवनीत भसीन जी जहाँ-जहाँ भी रहे वहां पदभार ग्रहण करने के तुरंत बाद से ही क़ानूनी व्यवस्था को कायम रखते हुए अपराध पर नियंत्रण कसा। ये NDPC एक्ट का इस्तेमाल और आम जनता, छात्रों, मीडिया, प्रशासन, और राजनैतिक दल के सहयोग से शहर में फैली अराजकता को दूर करते हैं।

यह भी पढ़ेई रुपी भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा स्वीकृत एक प्रीपेड इ-वाउचर है जिसे राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) ने वित्तीय सेवा विभाग बैंकों के सहयोग से विकसित किया है।

इसके आलावा IPS नवनीत भसीन भ्रष्ट या लापरवाह थाना प्रभारियों और दरोगाओं के लिए के लिए एकदम श्री परशुराम अवतार हैं जो भ्रष्ट पुलिसकर्मियों को ढूँढ-ढूँढ कर सस्पेंड करतें हैं।

SP रीवा – नवनीत भसीन (आईपीएस) एवं थाना लौर के पुलिसकर्मी

कार्य क्षमता

आईपीएस भसीन जी रीवा जिले के पुलिस अधीक्षक का पद सँभालते ही एक्सन मोड में दिखे, उन्होंने जिले के सीमा अंतर्गत सभी थानों व चौकियों का निरीक्षण करना शुरू कर दिया है।

तत्काल ही इन्होंने अपराध अधिकता वाले थानों, जैसे – लौर, शाहपुर, और हनुमना इत्यादि, को चिन्हित कर वहां निरीक्षण करना प्रारंभ कर दिया है।

यह भी पढ़ेUPSC Aspirants: यदि आप भारतीय लोक सेवा परीक्षा की तैयारी कर बड़े अधिकारी 👮‍♀️👩‍✈️ बनना चाहते हैं तो सबसे पहले इन किताबों को पढ़िए।

आईपीएस नवनीत भसीन की अगर बात करें तो इनकी कार्यशैली इतनी तगड़ी है की इनके आने के बाद चंद दिनों में ही रीवा में सुधार आना शुरू हो गया है जगह – जगह बिना नंबर प्लेट की गाड़ियों की चेकिंग व ब्लू ग्लास वाली गाडियों की चेकिंग कर उचित कार्यवाही करना शुरू कर दिया है। रीवा SP नवनीत भसीन (आईपीएस) ने अपराध और नशा मुक्त शहर बनाने हेतु अवैध कारोबारियों पर पाबन्दी लगाना भी शुरू कर दिया है।

SP रीवा, नवनीत भसीन (आईपीएस) एवं उनकी टीम

जैसा की आप देख पा रहे है IPS नवनीत भसीन लौर थाना का निरीक्षण कर अपने पूरी टीम के साथ हनुमना पहुंचे और एक दल बनाकर पूरे हनुमना क्षेत्र का भ्रमण किया।

SP रीवा, नवनीत भसीन (आईपीएस) एवं शाहपुर थाना दल प्रभारी

IPS अधिकारी ने हनुमाना अंतर्गत साहपुर थाना का निरीक्षण कर सभी कर्मियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सभी पेंडिंग प्रकरणों का निराकरण कर बढ़ रही अपराधिक गतिविधियों को कम करने के निर्देश भी दिए।

Exit mobile version