मध्य प्रदेश पंचायत आम निर्वाचन

मध्य प्रदेश: जल्द ही शुरू होंगी पंचायत आम चुनाव की तैयारियां

Share this article

मध्य प्रदेश: राज्य निर्वाचन आयुक्त बसंत प्रताप सिंह ने सभी जिलों के कलेक्टरों से कहा है कि वे पंचायत आम चुनाव (निर्वाचन) के लिए सभी तैयारियां समयसीमा में पूरी करें। उन्होंने कहा कि सभी मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन कर लें और जहां भी किसी प्रकार की समस्या हो उन्हें तुरंत ठीक किया जाए।

3 चरण में होंगे पंचायत आम चुनाव

जानकारी के अनुशार प्रदेश में तीन चरणों में पंचायत चुनाव कराए जा सकते है। सिंह ने कहा कि पंचायतों की मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 3 मार्च 2021 को हो चुका है। इसके बाद भी यदि कोई विशेष त्रुटि सामने आती है तो आयोग से अनुमति प्राप्त कर उनमें सुधार कर सकते हैं। ऐसे मतदान केन्द्र जहाँ 750 से अधिक मतदाता हैं, वहाँ एक अतिरिक्त मतदान कर्मी की नियुक्ति मतदान दल में की जायेगी।

उधर शुक्रवार को राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव बीएस जामोद ने आयुक्त की बीसी के बाद शुक्रवार को उप जिला निर्वाचन अधिकारियों और उससे निचले स्तर के अधिकारियों कर्मचारियों की वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक बुलाई है।

राज्य निर्वाचन आयोग से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए राज्य निर्वाचन आयुक्त ने कलेक्टरों से पंचायत चुनाव की तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि आयोग के निर्देशानुसार रिटर्निंग एवं सहायक रिटर्निंग ऑफिसर की नियुक्ति जल्द करें। जिला पंचायत सदस्यों के नाम निर्देशन-पत्र जिला मुख्यालय, जनपद पंचायत सदस्यों के ब्लाक मुख्यालय और सरपंच तथा पंच के ब्लाक और क्लस्टर स्तर पर लिये जाएंगे। क्लस्टर का गठन 10-15 पंचायतों का समूह बनाकर किया जाएगा।

ऑनलाइन और ऑफलाइन भर सकेंगे नामांकन

प्रत्येक रिटर्निंग ऑफिसर स्तर पर OLIN सुविधा केन्द्र की स्थापना करें। जिला पंचायत सदस्य, जनपद पंचायत सदस्य एवं सरपंच पद के लिए नाम निर्देशन-पत्र ऑफलाइन के साथ ही ऑनलाइन भरने का भी प्रावधान किया गया है। EVM की हैण्डलिंग बहुत ही सावधानी पूर्वक करें। जिला पंचायत सदस्य एवं जनपद पंचायत सदस्य के लिये मतदान ईव्हीएम से और सरपंच तथा पंच के लिये मतदान मत-पत्र एवं मतपेटी के माध्यम से होगा। पंचायत निर्वाचन के लिए जरूरी सामग्री की खरीदी कर लें। जिला एवं ब्लाक स्तर पर प्रशिक्षण की व्यवस्था कर लें।

यह भी पढ़ें

संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्र की सूची भेजें

इस दौरान राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव बीएस जामोद, उपसचिव अरुण परमार सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। राज्य निर्वाचन आयुक्त ने कलेक्टरों से सभी जिलों में संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों की सूची तुरंत भेजने को कहा है। सिंह ने कहा कि मार्च 2022 तक रिक्त होंने वाली पंचायतों के संबंध में जानकारी तुरंत भेजें। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सभी जिला पंचायत, जनपद पंचायत और ग्राम पंचायतों का चुनाव करवाया जाएगा। तीन चरणों में चुनाव करवाने पर विचार किया जा रहा है। आयुक्त ने कलेक्टरों द्वारा बताई गई समस्याओं का समाधान भी किया।

कलेक्टरों ने कहा प्रशिक्षण फिर से कराएं

सीहोर कलेक्टर ने राज्य निर्वाचन आयुक्त से कहा कि चुनाव में लगने वाले कर्मचारियों का प्रशिक्षण एक बार फिर से कराया जाना चाहिए। कुछ कर्मचारी पहली बार इस काम को देख रहे है। कुछ कलेक्टर भी नये बने है वे पहली बार चुनाव कराएंगे, इसलिए यह प्रशिक्षण फिर से होना चाहिए। इस पर राज्य निर्वाचन आयुक्त ने सहमति व्यक्त करते हुए फिर से प्रशिक्षण कराने का आश्वासन दिया है।

पंचायत आम चुनाव के मतदान केन्द्रों पर हो पूरी व्यवस्था

राज्य निर्वाचन आयुक्त सिंह ने कहा है कि सभी जिलों में मतदान केन्द्रों की व्यस्था पुख्ता की जाए। भवन पक्के हो और मतदाताओं के निवास से ज्यादा दूर नहीं हो ऐसे स्थानों का चयन किया जाए। मतदान केन्द्रो पर ईवीएम और अन्य उपकरणों के संचालन में दिक्कत न हो, बिजली, पानी और मतदान केन्द्र तक पहुंच मार्ग अच्छा हो इसकी व्यवस्था की जाए। संवेदनशील मतदान केन्द्रों की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी इसके अलावा सीसीटीवी कैमरों का इंतजाम भी चुनिंदा केन्द्रों पर किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: यदि आप भारतीय लोक सेवा परीक्षा की तैयारी कर बड़े अधिकारी 👮‍♀️👩‍✈️ बनना चाहते हैं तो सबसे पहले इन किताबों को पढ़िए। इस पेज में UPSC IAS की परीक्षा के लिए सबसे महत्त्वपूर्ण किताबों की सूची हैं।

Leave a Comment

Shopping Cart