UPI - एनपीसीआई (NPCI)

एनपीसीआई: भारत का UPI सिस्टम अपनाने वाला पहला देश बना नेपाल

Share this article

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) ने गुरुवार को कहा कि नेपाल भारत की यूपीआई (UPI) प्रणाली को अपनाने वाला पहला देश होगा, जो पड़ोसी देश की डिजिटल अर्थव्यवस्था को बदलने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

एनपीसीआई की अंतरराष्ट्रीय शाखा एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड (एनआईपीएल) ने नेपाल में सेवाएं प्रदान करने के लिए गेटवे पेमेंट्स सर्विस (जीपीएस) और मनम (Manam) इन्फोटेक के साथ हाथ मिलाया है।

जीपीएस (GPS) और मनम इन्फोटेक (Manam Infotech) क्या है?

जीपीएस, नेपाल में एक अधिकृत भुगतान प्रणाली ऑपरेटर है और मनम इन्फोटेक उस देश में यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) को तैनात करेगा।

एनपीसीआई (NPCI) ने एक बयान में कहा कि यह सहयोग नेपाल में बड़े डिजिटल सार्वजनिक हित में काम करेगा और पड़ोसी देश में इंटरऑपरेबल रीयल-टाइम पर्सन-टू-पर्सन (पी2पी) और पर्सन-टू-मर्चेंट (पी2एम) लेनदेन को बढ़ावा देगा।

इसमें कहा गया है कि, “नेपाल भारत के बाहर पहला देश होगा, जिसने नकद लेनदेन के डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने वाले भुगतान प्लेटफॉर्म के रूप में यूपीआई को अपनाया और केंद्रीय बैंक के रूप में नेपाल सरकार और नेपाल राष्ट्र बैंक के दृष्टिकोण और उद्देश्यों को आगे बढ़ाया।”

एनपीसीआई (NPCI) क्या है?

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI), भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) का विशेष विभाग है जो वित्त मंत्रालय, भारत सरकार के अधिकार क्षेत्र में है। इसे आरबीआई द्वारा खुदरा भुगतान और निपटान के संचालन के लिए बनाया गया था।

दिसंबर 2008 में स्थापित, एनपीसीआई भारतीय रिजर्व बैंक और भारतीय बैंक संघ द्वारा स्थापित कंपनी अधिनियम 2013 की धारा 8 के तहत पंजीकृत एक गैर-लाभकारी संगठन है। संगठन का स्वामित्व प्रमुख बैंकों के एक संघ के पास है और इसे देश के केंद्रीय बैंक, भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा प्रवर्तित किया गया है।

एनआईपीएल क्या है | NPCI International Payments Limited (NIPL)

एनपीसीआई ने अपने उत्पाद को वैश्विक बाजार में ले जाने के लिए एक अलग सहायक कंपनी बनाई है। रुपे (RuPay) और यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (UPI) का अंतर्राष्ट्रीयकरण, एनपीसीआई इंटरनेशनल पेमेंट्स लिमिटेड (एनआईपीएल / NIPL) का प्राथमिक फोकस है।

2021 में, मलेशियाई कंपनी मर्चेंट्रेड एशिया ने UPI अवसंरचना के माध्यम से भारत में रकम प्रेषण (remittance) हेतु NIPL के साथ भागीदारी की।

इन्हें भी पढ़े –

Leave a Comment