PCV Test in Hindi

PCV Test: पीसीवी परीक्षण क्या है? मतलब और फुलफार्म

Share this article

PCV फुल फॉर्म – PCV का फुल फॉर्म “पैक्ड सेल वॉल्यूम” है। पीसीवी परीक्षण (PCV Test) पूरे रक्त में पाए जाने वाले लाल रक्त कोशिका (RBC) के प्रतिशत को नापता है। रक्त के मुख्य घटक – श्वेत रक्त कोशिकाएं (WBC), लाल रक्त कोशिकाएं (RBC) और प्लेटलेट्स (Platelets) हैं। लाल रक्त कोशिकाएं (RBC) पूरे शरीर में ऑक्सीजन के परिवहन में मदद करती हैं।

लाल रक्त कोशिकाओं का उच्च या निम्न स्तर शरीर में बीमारियों का संकेत हो सकता है। RBC के घटने या बढ़ने के साथ यदि निम्नलिखित लक्षण भी दिखें तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए –

  • सांस की तकलीफ
  • थकान, सिरदर्द आदि।

PCV Test (पीसीवी टेस्ट) कई परीक्षणों में से एक है जिसका उपयोग एनीमिया (खून की कमी से होने वाली एक बीमारी) की जाँच के लिए किया जाता है। एनीमिया रोग में, रक्त में पर्याप्त लाल रक्त कोशिकाओं (RBC) की कमी हो जाती है।

इसके अतिरिक्त पीसीवी परीक्षण / PCV Test का उपयोग पॉलीसिथेमिया नामक बीमारी की जाँच के लिए भी किया जाता है। पॉलीसिथेमिया एक प्रकार का रक्त कैंसर है।

पीसीवी टेस्ट या PCV परीक्षण का उपयोग किसी व्यक्ति की स्वास्थ्य स्थिति (Wellness Test) जांचने के लिए सीबीसी (Complete Blood Count) परीक्षण पैनल के भाग के रूप में भी किया जा सकता है।

यदि किसी व्यक्ति में निम्नलिकित लक्षण दिखे तो डॉक्टर उसे PCV test (पीसीवी जाँच) कराने की सलाह दे सकता हैं –

  • थकान
  • कमजोरी
  • सांस की तकलीफ
  • सिरदर्द
  • चक्कर आना
  • ठंडे हाथ और पैर
  • पीली त्वचा आदि।

ये कुछ सामान्य संकेत और लक्षण हैं जो एनीमिया या पॉलीसिथेमिया के कारण हो सकते हैं।

पीसीवी/पैक्ड सेल वॉल्यूम टेस्ट क्या है (What Is The Packed Cell Volume Test / PCV Test in Hindi)?


पीसीवी टेस्ट (PCV Test) को हेमटोक्रिट परीक्षण के रूप में भी जाना जाता है, पीसीवी या पैक्ड सेल वॉल्यूम टेस्ट कुछ रोगियों में पॉलीसिथेमिया, निर्जलीकरण या एनीमिया की जाँच/निदान के लिए किया जाने वाला एक परीक्षण है।

आम तौर पर PCV Test (पीसीवी टेस्ट) में किसी व्यक्ति के ब्लड में टोटल RBC की गणना की जाती है जिसका उपयोग कुछ रक्त संचार की आवश्यकता का अनुमान लगाने और उपचार की प्रतिक्रिया (मेडिकल प्रोगेस/रिस्पोंस) को जांचने के लिए किया जाता है।

रक्त, सामान्य रूप से, प्लाज्मा के साथ-साथ कोशिकाओं का मिश्रण होता है। पीसीवी परीक्षण (PCV टेस्ट) यह मापता है कि रक्त में कितनी कोशिकाएं हैं। यदि पीसीवी 50% की रीडिंग देता है, तो इसका मतलब है कि 50 मिलीलीटर कोशिकाएं ठीक 100 मिलीलीटर रक्त में मौजूद हैं। यदि आरबीसी संख्या बढ़ती है, तो पीसीवी की कुल रीडिंग भी बढ़ जाती है। PCV Test में RBC की संख्या डिहाइड्रेशन के कारण भी बढ़ सकती है।

कई अस्पतालों में पीसीवी टेस्ट (PCV Test) और टोटल सॉलिड टेस्ट करना बहुत ही आसान होता है। चिकित्सक इस परीक्षण को आसानी से तो कर देतें है लेकिन उनमें से कई लोग इसकी व्याख्या ठीक से नही कर पाते हैं। रीडिंग रोगी की स्थिति के बारे में बहुत सारी जानकारी प्रदान करती है और मरीज के उपचार के लिए प्रॉपर प्लानिंग करने में भी मदद कर सकती है।

Read – 2 Min

पीसीवी टेस्ट की रीडिंग पढ़ना (Readings of the Pcv Test)

पीसीवी टेस्ट (PCV Test) में PCV की कम संख्या का मतलब है कि रक्त की हानि। कोशिकाओं के डैमेज हो जाने और कम अस्थि मज्जा उत्पादन जैसे कारणों से आरबीसी की संख्या कम हो जाती है। बढ़ी हुई पीसीवी का आम तौर पर यह मतलब हो सकता है कि व्यक्ति निर्जलित (Dehydrated) है।

PCV Test सामान्य रिजल्ट: पीसीवी रिजल्ट के सामान्य परिणाम का कुछ कारकों पर निर्भर कर सकते हैं जैसे – आयु, लिंग या नस्ल इत्यादि। महिला और पुरुष में PCV प्रतिशत निचे सारणी में दिखाया गया है –

लिंगसामान्य परिणाम (%)
पुरुष38.3 – 48.6
महिला35.5 – 44.9
PCV Test in hindi – नॉर्मल रेंज

पीसीवी टेस्ट की तैयारी (Preparation for The Pcv Test)

पीसीवी टेस्ट (PCV Test) के लिए किसी विशेष तैयारी की आवश्यकता नहीं होती है। यदि आप परीक्षण के बारे में चिंतित हैं, तो बेहतर होगा कि आप डॉक्टर से बात करें और उसे बताएं। साथ ही, आप जो भी दवाएं ले रहे हैं, उन्हें डॉक्टर को दिखाएँ। यदि कोई चिकित्सीय समस्या है जो अंतर्निहित है, तो आपको जाँच कराने से पहले खाली पेट रहने की सलाह दी जा सकती है।

पीसीवी/ पैक्ड सेल वॉल्यूम टेस्ट का उपयोग (Uses Of PCV Test/Packed Cell Volume Test)

PCV Test (पीसीवी परीक्षण) में कम पीसीवी का मतलब है कि रोगी में लाल रक्त कोशिकाओं (RBC) की संख्या कम है और वह एनीमिया से पीड़ित है। एनीमिया के अंतर्निहित कारणों का पता लगाने के लिए डॉक्टर रोगी को कुछ और जाँच कराने को कह सकता हैं। बांकी चीजें भी स्पष्ट हो जाने के बाद इलाज शुरू करना ज्यादा अच्छा होता है।

पीसीवी टेस्ट को मापना (Measuring the Pcv Test)

पीसीवी परीक्षण (PCV Test) की गणना एक स्वचालित विश्लेषक (Analyser) की मदद से की जाती है। रेड सेल काउंट को माध्य सेल वॉल्यूम (Mean Cell Volume) से गुणा करने पर, डॉक्टरों को फ़ाइनल वैल्यू मिलती है। पीसीवी हेमटोक्रिट की तुलना में थोड़ा कम सटीक है क्योंकि इसमें रक्त के साथ प्लाज्मा की मात्र भी थोड़ी शामिल होती है।

हीमोग्लोबिन कंसंट्रेशन की मदद से हेमटोक्रिट को प्रतिशत में निकला जा सकता है।

पीसीवी (PCV) को एक केशिका ट्यूब की मदद से भी डिटरमाईन किया जा सकता है। इस परीक्षण में पांच मिनट के लिए लगभग 10000 RPM पर हेपरिनिज्ड रक्त को अपकेंद्रित्र किया जाता है। इस प्रक्रिया में रक्त अलग-अलग परतों में बंट जाता है, और इस प्रकार रक्त के नमूने की कुल मात्रा से कुल पैक्ड को विभाजित कर आरबीसी की मात्रा निकाल ली जाती है।

ट्यूब का उपयोग परतों के बीच की लंबाई को मापने के लिए किया जाता है।

हेमटोक्रिट के स्तर को स्पेक्ट्रोफोटोमेट्री जैसे ऑप्टिकल तरीकों के माध्यम से भी मापा जा सकता है। डिफरेंशियल की मदद से, आइसोबेस्टिक वेवलेंथ पर ग्लास ट्यूबों के माध्यम से बहने वाले नमूने के ऑप्टिकल घनत्व और हेमटोक्रिट के साथ ल्यूमिनल व्यास वाले उत्पाद के बीच एक रैखिक संबंध निकाल लिया जाता है।

Read – 3 Min

कम पीसीवी रीडिंग कब होती है (When Does A Low Pcv Reading Occur)?

कुछ ऐसे कारक हैं जो PCV test (पीसीवी टेस्ट) में रीडिंग्स को कम कर देते हैं, उदाहरण के लिए –

  • आयरन, विटामिन (बी12 या फोलेट) या अन्य पोषक तत्वों और खनिजों की कमी
  • ब्लीडिंग
  • सूजन की स्थिति जैसे रूमेटोइड गठिया
  • गुर्दे के रोग
  • हेमोलिसिस, वह स्थिति है जहां प्रतिरक्षा प्रणाली द्वारा आरबीसी समय से पहले नष्ट हो जाती है। यह आरबीसी की अनुवांशिक असामान्यताओं के कारण होता है
  • लीवर सिरोसिस
  • दवाएं या कीमोथेरेपी
  • आरबीसी या हीमोग्लोबिन की असामान्यताएं जिसमें मायलोडिस्प्लास्टिक सिंड्रोम, लिंफोमा, अस्थि मज्जा विकार और मायलोमा जैसे विकार शामिल हैं।

PCV Test या पीसीवी परीक्षण में बढ़ी हुई पीसीवी रीडिंग के सबसे सामान्य कारणों में से एक निर्जलीकरण (Dehydration) है। पर्याप्त तरल पदार्थ के सेवन के साथ, स्तर सामान्य हो जाते हैं।

इसके आलावा पॉलीसिथेमिया के कारण भी आरबीसी अधिक बढ़ जाते हैं।

पीसीवी परीक्षण लागत (Pcv Test Cost)

Pcv Test (PCV परीक्षण) की कीमतें अलग-अलग पैथोलॉजिकल लैब में भिन्न-भिन्न होती हैं। चूँकि, पैक्ड सेल वॉल्यूम – स्वचालित तकनिकी से किया जाता है इसलिए इस परीक्षण (PCV test) की लागत आमतौर पर बहुत अधिक नहीं होती है। घर पर दी जाने वाली पैक्ड सेल वॉल्यूम (स्वचालित) परीक्षण लागत भी पारंपरिक पैथोलॉजिकल लैब से भिन्न होती है।

अक्सर पूंचे जाने वाले प्रश्न

PCV कम होने से क्या होता है?

पीसीवी कम होने का मतलब है कि – आपके रक्त में लाल रक्त कणिकाओं (RBC) का प्रतिशत घट गया है। PCV कम हो जाने से आपके शरीर में कई तरह की समस्याएं जैसे – सांस की तकलीफ, थकान, सिरदर्द आदि हो जाती हैं।

रक्त में पैक सेल की मात्रा क्या है?

रक्त में पैक्ड सेल की सामान्य मात्रा – पुरुषों में – 38.5% से 48.6% और महिलाओं में – 35.5% से 44.9% के बीच होती है।

रक्त में PCV / पैक्ड सेल वॉल्यूम कैसे बढ़ाएं?

रक्त में PCV बढ़ाने के लिए आप आपने खाने में इन पोषक तत्वों को शामिल करें, जैसे – हरी पत्तेदार सब्जियां (पालक-मूली), केला, नारियल पानी, सूखे मेवे, मूमफली, मांस-मछलियाँ और अंडे इत्यादि।

Leave a Comment

Shopping Cart